भारतीय रेल की जरूरतों को पूरा करने के लिए समर्पित है डीजल लोको मॉडर्नाइजेशन वर्क

Updated:3 months, 3 weeks ago IST

डीजल रेलइंजन आधुनिकीकरण कारखाना भारतीय रेल की उत्पादन इकाई है, जो 1981 में डीजल लोको की मेन्टीनेन्स में इस्तेमाल होने बाले कलपुर्जों की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए विश्व बैंक की सहायता से स्थापित की गई थी । इसकी सफलता के बाद इसमें नया अध्याय जुड़ा तथा 1989 में यहां डीजल इंजनों का पुनर्निर्माण कार्य शुरू किया गया जिसमें उनकी क्षमता 2600 एच पी से बढ़ाकर 3100 एच पी कर दी जाती थी ।

Related Video

iocl